सॉंप!-अज्ञेय

सॉंप!
तुम सभ्य तो हुए नहीं,
न होगे
नगर में बसना तुम्हे भी नहीं आया l
एक बात पूंछू? (उत्तर दोगे?)
फिर कैसे सिखा डॅंसना---
विष कहॉं पाया?

-अज्ञेय

0 comments:

Post a Comment

 
Design by Pocket Blogger Templates